Monday, January 30, 2017

भारतीय डाक बना तीसरा पेमेंट बैंक, आरबीआई ने दिया लाइसेंस

पेटीएम, एयरटेल को पेमेंट बैंक का लाइसेंस देने के बाद रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने इंडिया पोस्ट (भारतीय डाक) को भी इसका लाइसेंस दे दिया है। अब आपका नजदीकी डाकघर भी पेमेंट बैंक का काम करना शुरू कर देगा। 

पेमेंट बैंक  कैसे करेगा कार्य 
रिजर्व बैंक ने भुगतान बैंकों को एक व्यक्ति या कारोबारी इकाई से ज्यादा से ज्यादा एक लाख रूपए तक की जमा राशियां स्वीकार करने की छूट दी है।  बैंक सेवाओं के विस्तार के इस मॉडल  में मोबाइल फोन सेवा कंपनियों और सुपर-मार्केट श्रृंखला कंपनियों  को व्यक्तियों और छोटे व्यावसायिक प्रतिष्ठानों की कारोबार की लेन-देन की जरूरतों को सुगम बनाने के लिए इस तरह के बैंक चालू करने की अनुमति देने का प्रावधान है। ये बैंक छोटी राशि की जमाएं लेने और पैसा हस्तांतरित करने जैसी सेवाएं देंगे।  ये इंटरनेट बैंकिंग और कुछ अन्य विनिर्दिष्ट सेवाएं भी दे सकेंगे। 

इस लाइसेंस के तहत इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक शुरू कर सकेगा।  पेमेंट बैंक की शर्तों के अनुसार वह आम जमाकर्ताओं और छोटे कारोबारियों से एक लाख रुपये तक का डिपॉजिट स्वीकार कर सकेगा। नए मॉडल की बैंकिंग में मोबाइल कंपनियों, सुपरमार्केट और अन्य संस्थानों को आम लोगों और छोटे कारोबारियों को बैंकिंग सेवाएं देने के लिए लाइसेंस दिये जा रहे हैं।  ये बैंक सामान्य बैंकों से अलग होगा। उन्हें सीमित डिपॉजिट लेने, रेमिटेंस यानी मनी ट्रांसफर, इंटरनेट बैंकिंग और कुछ अन्य सेवाएं देने की अनुमति दी गई है। 


पेमेंट बैंक के लिए खुलेंगी 650 नई ब्रांच
इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक का लाइसेंस मिलने के बाद पूरे देश में  650 नई ब्रांच खोलेगा। ये बैंक छोटी राशि जमा करने और उसको ट्रांसफर करने का काम करेंगे। इसके अलावा इन बैंकों में इंटरनेट बैंकिंग और कुछ अन्य सेवाएं भी मिलेंगी। भारतीय डाक के एक अधिकारी ने बताया इंडियापोस्ट की पेमेंट बैंक सर्विसेज पहले के तय कार्यक्रम के मुताबिक ही शुरू की जाएंगी। 

11 कंपनियों को मिली थी पेमेंट बैंक शुरू करने की सैद्धांतिक मंजूरी
आरबीआइ ने 2015 में इंडिया  पोस्ट समेत 11 कंपनियों और संस्थानों को पेमेंट बैंक शुरू करने के लिए अपनी सैद्धांतिक मंजूरी दी थी।  इसके तहत वे पेमेंट बैंक शुरू कर सकते थे।  सैद्धांतिक मंजूरी में ही उन्हें भविष्य में लाइसेंस देने का प्रस्ताव किया गया था।  हालांकि टेक महिंद्रा, सन फार्मा, आइडीएफसी, टेलीनोर फाइनेंशियल सर्विसेज और चोलामंडलम इन्वेस्टमेंट एंड फाइनेंस कंपनी ने बाद में पेमेंट बैंक बनने की अर्जी वापस ले लीं।  रिजर्व बैंक के अनुसार, पेमेंट बैंक एक व्यक्ति या कारोबारी इकाई से अधिकतम एक लाख रुपये तक की जमा राशि ही स्वीकार कर सकते हैं। 

एयरटेल ने शुरू किया पेमेंट बैंक
मोबाइल सेवा प्रदाता कंपनी एयरटेल ने सबसे पहले अपना पेमेंट बैंक शुरू कर दिया है। इस बैंक में पैसा जमा करने वालों को 7.25 फीसदी की दर से ब्याज मिलेगा। एयरटेल के पेमेंट बैंक से देश के किसी भी बैंक खाते में पेमेंट किया जा सकेगा। इसमें व्यक्ति का मोबाइल नंबर ही बैंक अकाउंट नंबर हो जाएगा। 

Thursday, January 26, 2017

डाक विभाग द्वारा जोधपुर में गणतंत्र दिवस समारोह : डाक निदेशक केके यादव ने किया ध्वजारोहण, 39 डाककर्मियों का किया सम्मान

डाक विभाग द्वारा जोधपुर में 26  जनवरी, 2017  को 68वां  गणतंत्र  दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया गया।  इस अवसर पर राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव ने पोस्टमास्टर जनरल कार्यालय में आयोजित समारोह में ध्वजारोहण किया। समारोह में क्षेत्रीय कार्यालय एवं जोधपुर डाक मंडल में विभिन्न्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 39 अधिकारियों और कर्मचारियों को डाक निदेशक ने सम्मानित भी किया।

 इस अवसर पर राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव ने अपने संबोधन में कहा कि संविधान द्वारा दिए गए अधिकारों के साथ-साथ हमें अपने कर्तव्यों का भी एहसास होना चाहिए और एक जिम्मेदार नागरिक और सरकारी व्यवस्था के अंग दोनों रूप में, संविधान द्वारा स्थापित तंत्र की मजबूती हेतु कार्य करते हुए  इसके लाभों को समाज के अंतिम  व्यक्ति तक पहुँचाने का कार्य करना चाहिए। श्री यादव ने कहा कि हमारा दायित्व होना चाहिए कि सरकार की सभी कल्याणकारी योजनाएं आम जन  तक पहुंचें और इसके लिए हमें अधिक प्रभावी और प्रतिबद्ध रूप में कार्य करना होगा।
देश को आजादी दिलाने वाले शहीदों और महापुरुषों का स्मरण करते हुए निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि उनके बलिदान और त्याग के कारण ही आज हम आजादी के खुशनुमा माहौल में साँस ले रहे हैं। इन  महापुरुषों के सपनों को आत्मसात करते हुए ही भारत देश ने एक कल्याणकारी संविधान बनाया, अत: हमें इसकी कीमत पहचानते हुए इसमें समाहित भावनाओं को अक्षुण्ण रखना होगा। श्री यादव ने कहा कि गणतंत्र दिवस प्रसन्नता का दिवस है इस दिन सभी भारतीय नागरिकों को मिलकर अपने लोकतंत्र की उपलब्धियों का उत्सव मनाना चाहिए और एक शांतिपूर्ण, सौहार्दपूर्ण एवं प्रगतिशील भारत के निर्माण में स्वयं को समर्पित करने का संकल्प लेना चाहिए।









 इस अवसर पर उत्कृष्ट कार्य करने हेतु निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव ने क्षेत्रीय कार्यालय के 22 एवं जोधपुर मंडल के 17 अधिकारी व कर्मचारियों को प्रशस्ति-पत्र व स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया। क्षेत्रीय कार्यालय के सहायक निदेशक कान सिंह राजपुरोहित, लेखाधिकारी एम जे व्यास, सहायक डाक अधीक्षक सर्वश्री बीआर राठौड़, पुखराज राठौड़, अनिल कौशिक, राजेंद्र सिंह भाटी, सुदर्शन सामरिया, प्रबंधक हरी किशन गोलानी, निजी सहायक राहुल कुमार, सिस्टम मैनेजर विनय तातेड़ व विनोद पुरोहित, कार्यालय सहायक संवर्ग में सर्वश्री चतुर्भुज पालीवाल, ओपी चांदोरा, कन्हैयालाल पालीवाल, अमित शर्मा, प्रहलाद राय मील, मनीष सिंह भाटी, ललित कुमार एवं एमटीएस संवर्ग में सर्वश्री भियाँ राम, भीमा रामपटेल, ओम प्रकाश पँवार को उत्कृष्ट कार्यों हेतु सम्मानित किया गया। एथलेटिक्स क्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पदक विजेता स्नेहा जैन को भी सम्मानित किया गया। जोधपुर डाक मंडल से पोस्टमास्टर संवर्ग में आईदान राम, नेनूराम गोयल, शमशेर अली, डाक सहायक संवर्ग में सुनीता कुमारी, नीतू प्रजापत, जतन राज, राकेश दाधिच, निजी सहायक रीटा शर्मा, पोस्टमैन संवर्ग में रामू चौधरी, प्रभु सिंह, राजेन्द्र, एमटीएस संवर्ग में श्याम सुंदर, कन्हैया लाल एवं शाखा डाकपाल संवर्ग में देवाराम भील, कानाराम, गिरधर सेजू को डाक निदेशक ने सम्मानित किया।


इस अवसर पर जोधपुर मंडल के प्रवर डाक अधीक्षक बीआर सुथार, सहायक निदेशक इशरा राम, कान सिंह राजपुरोहित, रेलवे डाक अधीक्षक एल. आर. परिहार, लेखाधिकारी एम जे व्यास, बी.पी. टाक, अधीक्षक पोस्टल स्टोर डिपो बिहारी लाल सहित डाक विभाग के तमाम अधिकारीगण, कर्मचारी और उनके परिजन मौजूद रहे।

Monday, January 23, 2017

पोस्टमैन बनने के लिए पीएचडी धारक और बीटेक छात्र भी होड़ में, राजस्थान में 75 पोस्टमैनों की भर्ती हेतु करीब 80 हजार लोगों ने किया आवेदन

राजस्थान डाक परिमंडल द्वारा रविवार, 22  जनवरी, 2017  को आयोजित हुई पोस्टमैन और मेल गार्ड्स की सीधी भर्ती परीक्षा जोधपुर, जयपुर और अजमेर में संपन्न हुई। राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएँ कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि जोधपुर रीजन में 35 केंद्रों पर परीक्षा का आयोजन किया गया, जिनमें 13, 464  के सापेक्ष कुल 7,283   अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए अर्थात लगभग 55 प्रतिशत लोगों ने जोधपुर में परीक्षा दी। गौरतलब है कि राजस्थान में 73  पोस्टमैन और 02 मेल गार्ड पदों पर नियुक्ति के लिए राज्य भर से कुल 79,967 लोगों ने आवेदन किया था।


निदेशक डाक सेवायें श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि इस परीक्षा में मेरिट में स्थान पाने वाले परीक्षार्थियों का ही अंतिम आधार पर चयन किया जायेगा। 12  बजे से 2  बजे तक हुई वस्तुनिष्ठ श्रेणी की इस परीक्षा में  25-25 अंक के चार खण्ड शामिल थे जिनमें  सामान्य ज्ञान, गणित, अंग्रेजी व हिन्दी से सम्बंधित  प्रश्न शामिल थे। सामान्य श्रेणी के परीक्षार्थियों को परीक्षा उत्तीर्ण करने हेतु 10 अंक, अन्य पिछड़ी जाति के परीक्षार्थियों के लिए 9 अंक व अनुसूचित जाति के परीक्षार्थियों के लिए 8 अंक प्रत्येक खण्ड में प्राप्त करना अनिवार्य है। नकारात्मक अंक न होने के कारण परीक्षार्थियों ने प्रायः सारे प्रश्नों को हल किया।

गौरतलब है कि पहले डाक विभाग पोस्टमैन के पदों को अधिकतर विभागीय पदोन्नति के माध्यम से भरता था, पर अब पोस्टमैन बनने के लिए खुली प्रतियोगिता परीक्षा भी कराता है। ऐसे में पोस्टमैन पद, जिसके  लिए अहर्ता मात्र 10 वीं पास है, उसके लिए उच्च शिक्षा प्राप्त - एम. ए.,  एम. एस. सी और यहाँ तक कि पीएचडी धारक और बी-टेक की डिग्री लिए इंजीनियर भी परीक्षा दे रहे हैं। तमाम महिलाओं और दिव्यांगों ने भी पोस्टमैन बनने के लिए परीक्षा दी। 


बीटेक डिग्रीधारी और हाईटेक छात्रों द्वारा पोस्टमैन की परीक्षा दिए जाने पर डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि आज का पोस्टमैन भी टेक्नॉलाजी से जुड़ा हुआ है और उसे अपना कार्य सुचारू रूप से सम्पादित करने हेतु कंप्यूटर का ज्ञान आवश्यक है।  समाज में डाकिया की अपनी अलग ही प्रतिष्ठा है और सरकारी सेवा के स्थायित्व के साथ-साथ उसका वेतन भी कई निजी कंपनियों से बढ़िया और आकर्षक है। पहली पोस्टिंग में उसे लगभग 25 हजार रूपये वेतन मिलता है।  श्री यादव ने कहा कि डाक विभाग आई. टी. मॉडर्नाइजेशन के दौर से गुजर रहा है और ऐसे में यदि बीटेक डिग्रीधारी और हाईटेक लोग विभाग में आते हैं या पोस्टमैन बनने के लिए आकर्षित होते हैं  तो इसे एक शुभ संकेत के रूप में देखा जाना चाहिए।









Sunday, January 22, 2017

शुभकामना संदेशों में भी प्रधानमंत्री मोदी जी भ्रष्टाचार और काला धन के विरुद्ध लड़ने का कर रहे आह्वान

भ्रष्टाचार और काला धन के विरुद्ध प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी अपने अभियान के प्रति दृढ संकल्पित दिखते हैं। तभी तो इस बार नव वर्ष के शुभकामना सन्देश के साथ वे इसके विरुद्ध भी अलख जगाने का आह्वान कर रहे हैं। इसी क्रम में राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव सहित तमाम अधिकारियों को स्पीड पोस्ट द्वारा भेजे गए पत्र में  जहाँ प्रधानमंत्री मोदी जी ने नव वर्ष की शुभकामनाओं के लिए आभार व्यक्त करते हुए अपनी तरफ से भी शुभकामनाएँ प्रेषित की हैं, वहीं भ्रष्टाचार और काला धन को समाज से ख़त्म करने के लिए कंधा से कन्धा मिलाने का भी आह्वान किया है। उन्होंने लिखा है कि जिस तरह भारत की 125 करोड़ जनता ने इस अभियान को समर्थन दिया है, वह देश को नई ऊँचाइयों की तरफ ले जायेगा। मोदी जी ने अपने पत्र में यह भी आग्रह  किया है कि जहाँ तक सम्भव हो आर्थिक लेनदेन के लिए डिजिटल साधनों का इस्तेमाल करें और अन्य लोगों को भी इसके लिए प्रोत्साहित करें। 

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि प्रायः हर साल तमाम प्रतिष्ठित शख्शियतों को शुभकामना सन्देश भेज जाता है और उनके जवाब भी आते हैं। परंतु शुभकामना पत्रों के माध्यम से किसी सन्देश को प्रसारित करने की यह शैली अनोखी है और इससे संवाद का एक नया जरिया भी मिलता है। 





Saturday, January 21, 2017

Postmen to deliver message on importance of voting

Making a unique effort to motivate the voters to cast their votes on February 4, 2017 for the Punjab Assembly elections, the district election authorities have engaged postmen for the Systematic Voters’ Education and Electoral Participation (SVEEP) campaign to send appeal letters to every household in the district to inspire the voters to use their franchise.

To begin this special campaign, District Election Officer Kamal Kishor Yadav  flagged off a group rally comprising 50 postmen from the Head Post Office, Jalandhar.

The DEO revealed that these Postmen will start handing over appeal letters from today to motivate the voters to use their franchise on February 4, the day of polling, so as to ensure maximum participation.

“Initially, Postmen serving in areas falling under the Municipal Corporation, Jalandhar, will distribute these appeals to maximum number of households and from tomorrow onwards, postmen serving in rural areas will perform the same task so as to disseminate the message to motivate the voters to use their voting rights on merit during the ensuing assembly elections,” the DEO added.

Yadav revealed that the appeal letter has a message to make the voters aware of the importance of their voting rights so that the maximum participation can be ensured. Besides, the aim of this special campaign is to encourage the voters to cast their votes without any greed or influence, said the DEO.

He also informed that to make the residents aware in the districts, the same appeal is published on the rear of the passbooks being issued to the new account holders with the Postal department.

                                                    ******************************
Election Commission ropes in postmen to boost voters’ participation in Punjab



In a novel initiative to increase voters’ awareness in poll-bound Punjab, the state Election Commission has roped in postmen to urge electors to come out in large numbers and exercise their franchise on February 4. According to district Election Commissioner in Jalandhar Kamal Kishor Yadav, “We are taking the help of postmen for electors’ awareness campaign under which a group of 50 postmen from the main post office have been asked to visit their respective areas and spread awareness among people”.

“The postmen will give letters to electors and request them to come out in large numbers and cast their votes on February 4 when assembly election for Punjab will take place. The aim of the initiative is to increase participation of electors in this festival of democracy,” the officer said.

In the first step, areas coming under municipality are being covered by the postmen who are visiting door to door to give requesting letters to voters. Soon after this, postmen will be sent to homes in villages and remote areas with the same message, Yadav said. In the letter, voters’ rights regarding exercising their franchise have been described.

“We have appealed to people to cast their votes fearlessly and do not fall prey to any greed and participate in the election process in large numbers,” the officer added.

Friday, January 20, 2017

डाकिया डाक बाँटने के साथ, मतदान के लिए भी करेगा प्रेरित

डाकिया डाक लाया, डाकिया मनीऑर्डर लाया, डाकिये ने बचत खाता खुलवाया और अब डाकिया देश में लोकतंत्र को सुदृढ़ बनाने के लिए लोगों को मतदान के लिए भी प्रेरित करेगा। यह प्रयोग पंजाब मे शुरू किया गया है। पंजाब विधानसभा चुनाव में मतदाताओं को अपने मतदान का प्रयोग करने के लिए प्रेरित करने हेतु डाक विभाग के 50 पोस्टमैन  घर-घर जाकर मतदाताओं से मतदान करने की अपील करेंगे। भारतीय चुनाव आयोग के ‘स्वीप कार्यक्रम’ के अंतर्गत जिला जालंधर के चुनाव अधिकारी कमल किशोर यादव ने 16 जनवरी, 2017 को एक कार्यक्रम में  50 डाकियों के काफिले को झंडी दिखाकार रवाना किया जो नगर निगम के अधीन क्षेत्रों में मतदान करने की अपील करेंगे। इस अपील में मतदाताओं से भारतीय लोकतंत्र की मज़बूती के लिए जहॉ अधिक से अधिक मतदान करने की अपील की गई है वहीं मतदाताओं को बिना किसी डर, लालच, भय और जाति, धर्म से ऊपर उठकर मतदान करने के लिए कहा गया है। उल्लेखनीय है कि इससे पहले डाक विभाग जालंधर की ओर से खाता धारकों की पासबुक के पीछे भी मतदान जागरूकता के बारे में अपील प्रकाशित की गई है और नया खाता खुलवाते समय पर हर खाताधारक को अपने संवैधानिक अधिकार का बढ़चढ़ कर प्रयोग करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।

वाकई यह पहल सराहनीय है। यदि इस अभियान ने मतदाताओं को प्रेरित किया तो फिर उन क्षेत्रों में जहाँ मतदान प्रतिशत बहुत कम रहता है और मतदाताओं के मन में मतदान के प्रति रुचि कम रहती है, वहाँ भी ऐसे प्रयोग किए जा सकते हैं। डाकिया अभी भी सामाजिक संरचना की एक अहम कड़ी है और हर घर  तक उसकी पहुँच है। लोगों के सुख-दुख में बराबर का भागीदार डाकिया (पोस्टमैन) सिर्फ  चिट्ठी ही नहीं लाता है बल्कि कई बार लोग उससे चिट्ठियाँ लिखवाते भी हैं और बंचवाते भी हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में तो गाँव का डाकिया काफी लोकप्रिय है।  लोग उसका काफी सम्मान भी करते हैं और उसकी बातों को गंभीरता से  सुनते हैं। ऐसे में मतदान के लिए उनकी अपील का भी सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। राजस्थान के पश्चिमी मरुस्थल इलाक़ों मे तो डाकिये दुर्गम मरुस्थल को पार कर लोगों के पत्र गाँव-गाँव, ढाणी-ढाणी तक पहुँचाते  है।  ऐसे में यदि कभी इन मरुस्थली इलाक़ों में  डाकियों को मतदान के लिए उपयोग किया गया तो मतदान प्रतिशत अवश्य  बढ़ेगा और लोकतंत्र को मजबूत बनाने में भी जन भागीदारी भी बढ़ेगी। 

Wednesday, January 11, 2017

डाक विभाग के इण्डिया पोस्ट पेमेंट बैंक में नौकरी के लिए दिखा युवाओं में उत्साह



रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से पेमेंट बैंक के लिए लाइसेंस मिलने के बाद डाक विभाग की ओर से गठित इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (आईपीपीबी) में  भर्ती के लिए कवायदें आरम्भ हो गई हैं।  इसी क्रम में रविवार, 8 जनवरी, 2017  को असिस्टेंट मैनेजर स्केल प्रथम की  भर्ती  के लिए  देशभर में ऑनलाइन परीक्षा आयोजित की गई। राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर  के निदेशक डाक सेवायें श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि परीक्षा का आयोजन इंस्टीट्यूट ऑफ़ बैंकिंग पर्सनल सलेक्शन, मुम्बई द्वारा ऑनलाइन कराया गया। राजस्थान के 9 शहरों - जोधपुर, जयपुर, अजमेर,  उदयपुर, बीकानेर, सीकर, अलवर, भीलवाड़ा और  कोटा  में परीक्षा संपन्न हुई।  इससे पूर्व 17 दिसंबर, 2016 को स्केल द्वितीय, तृतीय और पंचम हेतु एवम 7 जनवरी को भी परीक्षाओं का आयोजन किया जा चुका  है। 
राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर  के निदेशक डाक सेवायें श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि इस परीक्षा हेतु जोधपुर सेण्टर पर कुल 2,828 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था, जिनमें से जोधपुर में बनाड स्थित आईओएन डिजिटल लैब में हुई परीक्षा में 2,088 ने उक्त परीक्षा दी। गौरतलब है कि  पूरे  राजस्थान में 25,845 अभ्यर्थियों ने इस परीक्षा के लिए आवेदन किया था।  यह परीक्षा देश भर में 650 पदों के लिए हो रही हैं। डाक विभाग अपने बैंक के लिए अधिकारियों और कर्मचारियों की नियुक्ति प्रोफेशनल तरीके से कर रहा हैं। परीक्षा का जिम्मा देश के 21 सरकारी बैंकों  के परीक्षा आयोजक आईबीपीएस को सौंपा गया है। आईबीपीएस ने रविवार को सफलतापूर्वक तीन पारियों में ऑनलाइन परीक्षा का संचालन किया।


डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि डाक विभाग को पेमेंट बैंक का दर्जा  मिलने के बाद पूरे भारत में मार्च 2017 तक पायलट फेज में 50 शाखाएं और सितंबर 2017 तक 650 शाखाएं आरम्भ किया जाना प्रस्तावित है, जिनमें  राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर में  कुल 16 पेमेंट बैंक की शाखाएं खोला जाना प्रस्तावित है। गौरतलब है कि आईपीपीबी को 17 अगस्त, 2016 को कंपनी अधिनियम, 2013 के अंतर्गत कॉर्पोरेट मंत्रालय के कंपनी रजिस्ट्रार से कंपनी प्रमाण-पत्र मिला। यह डाक विभाग के अंतर्गत पहला सार्वजनिक उपक्रम  होगा। आईपीपीबी का मुख्यालय नई दिल्ली में हैं। इस  बैंक को पोस्ट ऑफिस  की व्यापक पहुँच और  उनकी साख का लाभ मिलेगा। बैंक की पहुंच 1.39 लाख ग्रामीण डाकघरों सहित 1.54 लाख डाकघरों तक होगी।


                                                        (डाकघर के बैंक में नौकरी के लिए उत्साह)


Sunday, January 8, 2017

डाकघरों और बैंकों के एटीएम आपस में जुड़े, डाकघरों के बचतखाता धारकों में एटीएम की मांग तेजी से बढ़ी

नए साल में एक अभिनव पहल करते हुए सरकार ने डाकघर और बैंकों के एटीएम को आपस में जोड़ दिया (interoperable) है। इससे जहाँ डाकघरों के एटीएम धारक बैंकों के एटीएम से पैसे निकल सकेंगे, वहीँ बैंकों के एटीएम धारक  डाकघरों के एटीएम से पैसे निकल सकेंगें। नोटबंदी के बाद उत्पन्न हुई स्थिति में इससे आमजन को काफी सहूलियत होगी।  इस सम्बन्ध में जानकारी देते हुए राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि डाकघरों को पहले ही कोर बैंकिंग सॉल्यूशन से जोड़ा जा चुका है, जिसके तहत देश भर में स्थित किसी भी सीबीएस प्रधान डाकघर और उपडाकघर से बचत खाता धारक अपने पैसे निकल सकते हैं, ऐसे में डाकघरों और बैंक के एटीएम को आपस में जोड़ने से लोगों को काफी सुविधा प्राप्त होगी।

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि पूरे भारत में डाकघरों के 969 एटीएम कार्यरत हैं, जिनमें राजस्थान में 64 और जोधपुर रीजन में 24 एटीएम हैं। डाक विभाग ने पूरे  देश में 9 लाख से ज्यादा एटीएम कार्ड जारी किये हैं, वहीँ राजस्थान में 36,000 और जोधपुर रीजन में 15,000 से ज्यादा एटीएम कार्ड जारी किये गए हैं। डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाकघर और बैंकों के एटीएम की इंटर कनेक्टिविटी के बाद डाकघरों के बचतखाता धारकों में एटीएम की मांग भी  तेजी से बढ़ गई है। डाकघरों के पुराने बचत खाता धारक भी एक आवेदन द्वारा अपना केवाईसी अपडेट कराके एटीएम प्राप्त कर सकते हैं। उपडाकघरों के खाताधारक भी एटीएम के लिए आवेदन कर सकते हैं। फ़िलहाल, डाक विभाग सिर्फ डेबिट कार्ड जारी कर रहा है। आरंभिक चरण में ये सभी  एटीएम पर इस्तेमाल किये जा सकते हैं। कालांतर में इसे  बाज़ार मे खरीदारी के लिए पोस (पॉइंट ऑफ सेल) मशीन से भी जोड़ा जायेगा।

गौरतलब है कि राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के अधीन 24  डाकघरों में एटीएम कार्यरत हैं, जिनमें जोधपुर, जैसलमेर, बीकानेर, बाड़मेर, पाली मारवाड़, मारवाड़ जंक्शन, सिरोही, जालोर, सीकर, श्रीमाधोपुर, झुंझुनू, चिरावा, चूरू, रतनगढ़, नागौर, डीडवाना, मकराना, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ स्थित प्रधानडाकघर और  आबू रोड, फतेहपुरी शेखावटी, चोहटन, पिलानी, सुमेरपुर स्थित उपडाकघर शामिल हैं।