Wednesday, January 11, 2017

डाक विभाग के इण्डिया पोस्ट पेमेंट बैंक में नौकरी के लिए दिखा युवाओं में उत्साह



रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से पेमेंट बैंक के लिए लाइसेंस मिलने के बाद डाक विभाग की ओर से गठित इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (आईपीपीबी) में  भर्ती के लिए कवायदें आरम्भ हो गई हैं।  इसी क्रम में रविवार, 8 जनवरी, 2017  को असिस्टेंट मैनेजर स्केल प्रथम की  भर्ती  के लिए  देशभर में ऑनलाइन परीक्षा आयोजित की गई। राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर  के निदेशक डाक सेवायें श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि परीक्षा का आयोजन इंस्टीट्यूट ऑफ़ बैंकिंग पर्सनल सलेक्शन, मुम्बई द्वारा ऑनलाइन कराया गया। राजस्थान के 9 शहरों - जोधपुर, जयपुर, अजमेर,  उदयपुर, बीकानेर, सीकर, अलवर, भीलवाड़ा और  कोटा  में परीक्षा संपन्न हुई।  इससे पूर्व 17 दिसंबर, 2016 को स्केल द्वितीय, तृतीय और पंचम हेतु एवम 7 जनवरी को भी परीक्षाओं का आयोजन किया जा चुका  है। 
राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर  के निदेशक डाक सेवायें श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि इस परीक्षा हेतु जोधपुर सेण्टर पर कुल 2,828 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था, जिनमें से जोधपुर में बनाड स्थित आईओएन डिजिटल लैब में हुई परीक्षा में 2,088 ने उक्त परीक्षा दी। गौरतलब है कि  पूरे  राजस्थान में 25,845 अभ्यर्थियों ने इस परीक्षा के लिए आवेदन किया था।  यह परीक्षा देश भर में 650 पदों के लिए हो रही हैं। डाक विभाग अपने बैंक के लिए अधिकारियों और कर्मचारियों की नियुक्ति प्रोफेशनल तरीके से कर रहा हैं। परीक्षा का जिम्मा देश के 21 सरकारी बैंकों  के परीक्षा आयोजक आईबीपीएस को सौंपा गया है। आईबीपीएस ने रविवार को सफलतापूर्वक तीन पारियों में ऑनलाइन परीक्षा का संचालन किया।


डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि डाक विभाग को पेमेंट बैंक का दर्जा  मिलने के बाद पूरे भारत में मार्च 2017 तक पायलट फेज में 50 शाखाएं और सितंबर 2017 तक 650 शाखाएं आरम्भ किया जाना प्रस्तावित है, जिनमें  राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर में  कुल 16 पेमेंट बैंक की शाखाएं खोला जाना प्रस्तावित है। गौरतलब है कि आईपीपीबी को 17 अगस्त, 2016 को कंपनी अधिनियम, 2013 के अंतर्गत कॉर्पोरेट मंत्रालय के कंपनी रजिस्ट्रार से कंपनी प्रमाण-पत्र मिला। यह डाक विभाग के अंतर्गत पहला सार्वजनिक उपक्रम  होगा। आईपीपीबी का मुख्यालय नई दिल्ली में हैं। इस  बैंक को पोस्ट ऑफिस  की व्यापक पहुँच और  उनकी साख का लाभ मिलेगा। बैंक की पहुंच 1.39 लाख ग्रामीण डाकघरों सहित 1.54 लाख डाकघरों तक होगी।


                                                        (डाकघर के बैंक में नौकरी के लिए उत्साह)


Sunday, January 8, 2017

डाकघरों और बैंकों के एटीएम आपस में जुड़े, डाकघरों के बचतखाता धारकों में एटीएम की मांग तेजी से बढ़ी

नए साल में एक अभिनव पहल करते हुए सरकार ने डाकघर और बैंकों के एटीएम को आपस में जोड़ दिया (interoperable) है। इससे जहाँ डाकघरों के एटीएम धारक बैंकों के एटीएम से पैसे निकल सकेंगे, वहीँ बैंकों के एटीएम धारक  डाकघरों के एटीएम से पैसे निकल सकेंगें। नोटबंदी के बाद उत्पन्न हुई स्थिति में इससे आमजन को काफी सहूलियत होगी।  इस सम्बन्ध में जानकारी देते हुए राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि डाकघरों को पहले ही कोर बैंकिंग सॉल्यूशन से जोड़ा जा चुका है, जिसके तहत देश भर में स्थित किसी भी सीबीएस प्रधान डाकघर और उपडाकघर से बचत खाता धारक अपने पैसे निकल सकते हैं, ऐसे में डाकघरों और बैंक के एटीएम को आपस में जोड़ने से लोगों को काफी सुविधा प्राप्त होगी।

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि पूरे भारत में डाकघरों के 969 एटीएम कार्यरत हैं, जिनमें राजस्थान में 64 और जोधपुर रीजन में 24 एटीएम हैं। डाक विभाग ने पूरे  देश में 9 लाख से ज्यादा एटीएम कार्ड जारी किये हैं, वहीँ राजस्थान में 36,000 और जोधपुर रीजन में 15,000 से ज्यादा एटीएम कार्ड जारी किये गए हैं। डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाकघर और बैंकों के एटीएम की इंटर कनेक्टिविटी के बाद डाकघरों के बचतखाता धारकों में एटीएम की मांग भी  तेजी से बढ़ गई है। डाकघरों के पुराने बचत खाता धारक भी एक आवेदन द्वारा अपना केवाईसी अपडेट कराके एटीएम प्राप्त कर सकते हैं। उपडाकघरों के खाताधारक भी एटीएम के लिए आवेदन कर सकते हैं। फ़िलहाल, डाक विभाग सिर्फ डेबिट कार्ड जारी कर रहा है। आरंभिक चरण में ये सभी  एटीएम पर इस्तेमाल किये जा सकते हैं। कालांतर में इसे  बाज़ार मे खरीदारी के लिए पोस (पॉइंट ऑफ सेल) मशीन से भी जोड़ा जायेगा।

गौरतलब है कि राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के अधीन 24  डाकघरों में एटीएम कार्यरत हैं, जिनमें जोधपुर, जैसलमेर, बीकानेर, बाड़मेर, पाली मारवाड़, मारवाड़ जंक्शन, सिरोही, जालोर, सीकर, श्रीमाधोपुर, झुंझुनू, चिरावा, चूरू, रतनगढ़, नागौर, डीडवाना, मकराना, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ स्थित प्रधानडाकघर और  आबू रोड, फतेहपुरी शेखावटी, चोहटन, पिलानी, सुमेरपुर स्थित उपडाकघर शामिल हैं।

Tuesday, January 3, 2017

नोटबंदी के दौरान जोधपुर रीज़न के डाकघरों में जमा हुई 9 अरब रूपये से ज्यादा की राशि


भारत सरकार द्वारा नोटबंदी के बाद डाकघरों में भी लोगों ने अपने खातों में  खूब पुराने नोट जमा कराये और निर्धारित तिथि तक  500 और 1,000 रूपये के नोट बदले। राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि 10 नवम्बर से आरम्भ हुए नोटबंदी अभियान के तहत जोधपुर रीज़न के डाकघरों में लोगों ने 500 और 1,000 रूपये की   पुरानी सीरीज के कुल 9 अरब 11 करोड़ 5 लाख 75 हजार रुपए की राशि अपने खातों  में जमा की।  इसी प्रकार डाकघरों में एक्सचेंज के तहत निर्धारित तिथि 24 नवम्बर तक लोगों ने पुरानी सीरीज के 1 अरब 63 करोड़ 26 लाख 79 हजार पाँच सौ रूपये की राशि एक्सचेंज करवाई । इस दौरान डाक विभाग द्वारा अस्पतालों में भी  पहुँचकर जहाँ जरूरतमंद मरीजों के पुराने नोट बदले गए, वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर जाकर विशेष अभियान चलाकर लोगों के बचत खाते खोलकर उनके पैसे जमा कराये गए। डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि आरंभ में डाकघर की तमाम बचत योजनाओं और बाद में 30 दिसंबर तक सिर्फ बचत खाता में 500 और 1,000 रूपये के पुराने नोट स्वीकार किये गए। 

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि सामाजिक और आर्थिक समावेशन में डाक विभाग की अहम भूमिका है। ऐसे में लोगों को बचत योजनाओं के तहत प्रोत्साहित करते हुये उनके खाते डाकघरों में खुलवाने का अभियान चलता रहेगा। गौरतलब है कि डाकघरों में मात्र 50 रूपये में बचत खाते खुलवाये जा सकते हैं और जहाँ पर एटीएम सुविधा उपलब्ध है, वहाँ तत्काल ही इन खातों को एटीएम से भी जोड़ा जा रहा है, ताकि पैसे निकालने में खाताधारकों को परेशानी न हो।  ग्रामीण लोगों को अटल पेंशन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना और प्रधानमंत्री  सुरक्षा बीमा योजना के लाभों से रूबरू कराते हुये इससे भी जोड़ा जा रहा है।


Saturday, December 31, 2016

राजस्थान में आरंभ हुई 11वीं पोस्ट शॉपी : नागौर में पोस्ट शॉपी का डाक निदेशक केके यादव ने किया उद्घाटन

डाकघरों में आरम्भ हुई पोस्ट शॉपी के प्रति लोगों के उत्साहजनक रवैये को देखते हुए राजस्थान में 11 पोस्ट शॉपी आरम्भ की गई हैं। इस अनूठी पहल का उद्देश्य लोगों को बेहतर सुविधायें देने के साथ  अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचना है। उक्त उद्गार राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएँ श्री क़ृष्ण कुमार यादव ने 28 दिसंबर, 2016 को राजस्थान के नागौर प्रधान डाकघर में पोस्ट शॉपी का उद्घाटन करते हुये व्यक्त किए। श्री यादव ने बताया कि राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र के 06 प्रधान डाकघरों -जोधपुर, बीकानेर, झुञ्झुनु, पाली, सिरोही और सीकर में पोस्ट शॉपी आरम्भ की जा चुकी है और वहाँ पर इसे बड़ा अच्छा रिस्पांस मिला है। इसके अलावा जयपुर, अलवर, उदयपुर और कोटा  प्रधान डाकघर में भी पोस्ट शॉपी आरम्भ हो चुकी हैं, ऐसे में नागौर में पोस्ट शॉपी खुलने के बाद राजस्थान परिमंडल में संचालित पोस्ट शॉपी की संख्या 11 हो जायेंगी। 
पोस्ट शॉपी का उद्घाटन करते हुये  राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के  निदेशक डाक सेवाएँ  श्री क़ृष्ण कुमार यादव ने कहा कि  पोस्ट शॉपी में  डाक टिकट और डाक स्टेशनरी, फिलेटेलिक प्रोडक्टस, माई स्टैम्प सुविधा, स्टेशनरी आइटम, प्रिंटेड मग, पिक्चर पोस्टकार्ड्स, ग्रीटिंग कार्ड्स, पुस्तकें, गिफ्ट संबंधी आइटम्स, हैंडीक्राफ्ट उत्पादो एवं गंगाजल की बिक्री होगी।  डाकघर में आने वाले ग्राहकों एवं पर्यटकों की सहूलियत के लिए पोस्ट शॉपी में पैकिंग मैटीरियल व पार्सल बुकिंग की सुविधा भी उपलब्ध करवाई जाएगी,  ताकि वहीँ  से ग्राहक सीधे अपने घर तक खरीदे हुये उत्पादों को पार्सल सुविधा के माध्यम से पहुँचा सके।
 डाक निदेशक  श्री क़ृष्ण कुमार यादव ने कहा कि पोस्ट शॉपी के माध्यम से जहाँ एक तरफ डाक विभाग के राजस्व में बढ़ोतरी होगी, वहीं  इस योजना के माध्यम से स्कूली बच्चों और युवाओं को भी डाकघर के प्रति आकर्षित किया जा सकेगा। चूँकि, डाकघरों में बड़ी संख्या में लोग आते है, ऐसे में उनके  लिए पोस्ट शॉपी एक अभिनव कदम होगा। 
 डाक विभाग की योजनाओं की चर्चा करते हुए डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि  डाक विभाग को पेमेंट बैंक का दर्जा मिलने के बाद इसकी सेवा और पहुँच में और भी इजाफा होगा। नागौर मण्डल के अंतर्गत नागौर और डीडवाना प्रधान डाकघर में भी इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक की शाखा खोली जाएँगी। श्री यादव ने कहा कि रूरल इन्फॉर्मेशन एंड कम्युनिकेशन टेक्नालॉजी प्रोजेक्ट के तहत ग्रामीण शाखा डाकघरों को भी हाईटेक किया जायेगा और वहाँ पर  हैण्डहेल्ड डिवाइस  दिया जायेगा। शाखा डाकघरों को सोलर चार्जिंग उपकरणों से जोडने के साथ-साथ मोबाइल थर्मल प्रिन्टर, स्मार्ट कार्ड रीडर, फिंगर प्रिन्ट स्कैनर, डिजिटल कैमरा एवं सिगनेचर व दस्तावेज स्कैनिंग के लिये यन्त्र भी मुहैया कराया जायेगा ताकि ग्रामीण लोगों को इन सुविधाओं के लिये शहरों की तरफ न भागना पडे और घर बैठे ही वे अपना भुगतान प्राप्त कर सकें।

नागौर मंडल के डाक अधीक्षक श्री राम लाल मूण्ड ने बताया कि  पोस्ट शॉपी के माध्यम से डाक विभाग की विभिन्न योजनाओं  की विस्तृत जानकारी भी  आने वाले ग्राहकों को मिल सकेगी।  घर बैठे डाक टिकट प्राप्त करने की सुविधा के तहत फिलाटेलिक डिपॉज़िट अकाउंट खोलने  एवं मात्र 300/- रुपये  में अपनी फोटो वाली  डाक टिकट  की सुविधा भी पोस्ट शॉपी पर उपलब्ध होगी। 
     
  नागौर प्रधान डाकघर में पोस्ट शॉपी के शुभारम्भ पर डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने उपस्थित ग्राहकों को अपने हाथों से माई स्टैम्प शीट, फिलेटेलिक मग व अन्य गिफ्ट आईटम प्रदान किये।

  इस अवसर पर सहायक डाक अधीक्षक एफ़.एम. भाटी, राजेन्द्र सिंह भाटी,  डाक निरीक्षक महावीर सैनी, नरेन्द्र सिंह धवल, विनोद कुमार, पोस्टमास्टर एन.आर. चौधरी, सहायक पोस्टमास्टर (एसबी) एम आर गौड़, एमई घनश्याम भार्गव सहित डाक विभाग के तमाम अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।




Friday, December 30, 2016

डाकघर की पोस्ट शॉपी में मिलेंगे फिलेटेलिक प्रोडक्टस, स्टेशनरी आइटम, हैंडीक्राफ्ट उत्पाद व गिफ्ट आइटम्स

आमजन की सुविधाओं का ध्यान रखते हुये, डाक विभाग अब एक सुविधा केंद्र के रूप में पोस्ट शॉपी का आरंभ करने जा रहा है। इस अनूठी पहल का उद्देश्य लोगों को बेहतर सुविधायें देने के साथ  अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचना है। उक्त उद्गार राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएँ श्री क़ृष्ण कुमार यादव  ने 27 दिसंबर, 2016 को सीकर प्रधान डाकघर में पोस्ट शॉपी का उद्घाटन करते हुये व्यक्त किए।    

  राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के  निदेशक डाक सेवाएँ  श्री क़ृष्ण कुमार यादव ने इस अवसर पर कहा कि  पोस्ट शॉपी में  डाक टिकट और डाक स्टेशनरी, फिलेटेलिक प्रोडक्टस, माई स्टैम्प सुविधा, स्टेशनरी आइटम, प्रिंटेड मग, पिक्चर पोस्टकार्ड्स, ग्रीटिंग कार्ड्स, पुस्तकें, गिफ्ट संबंधी आइटम्स, हैंडीक्राफ्ट उत्पादो एवं गंगाजल की  बिक्री होगी।  डाकघर में आने वाले ग्राहकों एवं पर्यटकों की सहूलियत के लिए पोस्ट शॉपी में पैकिंग मैटीरियल व पार्सल  बुकिंग की सुविधा भी उपलब्ध करवाई जाएगी,  ताकि वहीँ  से ग्राहक सीधे अपने घर तक खरीदे हुये उत्पादों को पार्सल सुविधा के माध्यम से पहुँचा सके।

   डाक निदेशक  श्री क़ृष्ण कुमार यादव ने कहा कि पोस्ट शॉपी के माध्यम से जहाँ एक तरफ डाक विभाग के राजस्व में बढ़ोतरी होगी, वहीं  इस योजना के माध्यम से स्कूली बच्चों और युवाओं को भी डाकघर के प्रति आकर्षित किया जा सकेगा। चूँकि, डाकघरों में बड़ी संख्या में लोग आते है, ऐसे में उनके  लिए पोस्ट शॉपी एक अभिनव कदम होगा।  श्री यादव ने बताया कि राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र के पाँच प्रधान डाकघरों -जोधपुर, बीकानेर, झुञ्झुनु, पाली और सिरोही में पोस्ट शॉपी आरम्भ की जा चुकी  है और वहाँ पर इसे बड़ा अच्छा रिस्पांस मिला है।
 डाक विभाग की योजनाओं की चर्चा करते हुए डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि  डाक विभाग को पेमेंट बैंक का दर्जा मिलने के बाद इसकी सेवा और पहुँच में और भी इजाफा होगा। सीकर में भी इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक की शाखा खोली जाएगी। श्री यादव ने कहा कि रूरल इन्फॉर्मेशन एंड कम्युनिकेशन टेक्नालॉजी प्रोजेक्ट के तहत ग्रामीण शाखा डाकघरों को भी हाईटेक किया जायेगा और वहाँ पर  हैण्डहेल्ड डिवाइस  दिया जायेगा। शाखा डाकघरों को सोलर चार्जिंग उपकरणों से जोडने के साथ-साथ मोबाइल थर्मल प्रिन्टर, स्मार्ट कार्ड रीडर, फिंगर प्रिन्ट स्कैनर, डिजिटल कैमरा एवं सिगनेचर व दस्तावेज स्कैनिंग के लिये यन्त्र भी मुहैया कराया जायेगा ताकि ग्रामीण लोगों को इन सुविधाओं के लिये शहरों की तरफ न भागना पडे और घर बैठे ही वे अपना भुगतान प्राप्त कर सकें।


सीकर मंडल के डाक अधीक्षक श्री जीडी गुप्ता ने बताया कि  पोस्ट शॉपी के माध्यम से डाक विभाग की विभिन्न योजनाओं  की विस्तृत जानकारी भी  आने वाले ग्राहकों को मिल सकेगी।  घर बैठे डाक टिकट प्राप्त करने की सुविधा के तहत फिलाटेलिक डिपॉज़िट अकाउंट खोलने  एवं मात्र 300/- रुपये  में अपनी फोटो वाली  डाक टिकट  की सुविधा भी पोस्ट शॉपी पर उपलब्ध होगी। 
सीकर प्रधान डाकघर में पोस्ट शॉपी के शुभारम्भ पर डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने उपस्थित ग्राहकों को अपने हाथों से माई स्टैम्प शीट, फिलेटेलिक मग व अन्य गिफ्ट आईटम प्रदान किये।

 इस अवसर पर सहायक डाक अधीक्षक पुखराज राठौड़, रामावतार सोनी, एमएल बिजारनिया,   राजेन्द्र सिंह भाटी,  डाक निरीक्षक विनोद कुमार, पोस्टमास्टर सी.आर. चौधरी, सहायक पोस्टमास्टर (लेखा) एच.पी. कुमावत, जन सम्पर्क निरीक्षक वीरेन्द्र सिंह, एमई ताराचंद सहित डाक विभाग के तमाम अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।







Friday, December 23, 2016

उत्कृष्ट साहित्यिक सेवाओं हेतु डाक निदेशक कृष्ण कुमार यादव "मानसश्री सम्मान" से विभूषित

हिंदी साहित्य और लेखन के क्षेत्र में  उत्कृष्ट सेवाओं के लिए राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएँ  श्री कृष्ण कुमार यादव को मौन तीर्थ सेवार्थ फाउण्डेशन, उज्जैन द्वारा "मानसश्री  सम्मान -2016" से सम्मानित किया गया। श्री यादव को सम्मानस्वरुप स्मृति चिन्ह, प्रशस्ति पत्र और पाँच हजार रूपये की राशि दी गई। उज्जैन में आयोजित एक भव्य कार्यक्रम में श्री यादव को उक्त सम्मान मध्य प्रदेश के  सूचना आयुक्त श्री हीरालाल त्रिवेदी और संतश्री सुमन भाई द्वारा प्रदान किया गया। 


गौरतलब है कि श्री यादव की विभिन्न विधाओं में अब तक सात पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं एवम तमाम पत्र-पत्रिकाओं में लेखन के साथ ब्लॉगिंग से भी जुड़े हुए हैं। उत्कृष्ट साहित्य लेखन हेतु श्री कृष्ण कुमार यादव को राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर शताधिक सम्मानों से विभूषित किया जा चुका है। इनमें उ.प्र. के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव द्वारा ’’अवध सम्मान’’, पश्चिम बंगाल के राज्यपाल श्री केशरी नाथ त्रिपाठी द्वारा ’’साहित्य सम्मान’’, छत्तीसगढ़ के राज्यपाल श्री शेखर दत्त द्वारा ”विज्ञान परिषद शताब्दी सम्मान”,  अंतर्राष्ट्रीय ब्लॉगर सम्मेलन, भूटान में ’’परिकल्पना सार्क शिखर सम्मान’’,  साहित्य मंडल, श्रीनाथद्वारा, राजस्थान द्वारा ”हिंदी भाषा भूषण”, परिकल्पना समूह द्वारा ’’दशक के श्रेष्ठ हिन्दी ब्लाॅगर दम्पति’’ सम्मान, विक्रमशिला हिन्दी विद्यापीठ, भागलपुर, बिहार द्वारा डाॅक्टरेट (विद्यावाचस्पति) की मानद उपाधि, भारतीय दलित साहित्य अकादमी द्वारा ‘’डाॅ0 अम्बेडकर फेलोशिप राष्ट्रीय सम्मान‘‘,  भारतीय बाल कल्याण संस्थान द्वारा ‘‘प्यारे मोहन स्मृति सम्मान‘‘, ग्वालियर साहित्य एवं कला परिषद द्वारा ”महाप्राण सूर्यकान्त त्रिपाठी ‘निराला‘ सम्मान”, राष्ट्रीय राजभाषा पीठ इलाहाबाद द्वारा ‘‘भारती रत्न‘‘, अखिल भारतीय साहित्यकार अभिनन्दन समिति मथुरा द्वारा ‘‘महाकवि शेक्सपियर अन्तर्राष्ट्रीय सम्मान‘‘ सहित विभिन्न प्रतिष्ठित सामाजिक-साहित्यिक संस्थाओं द्वारा विशिष्ट कृतित्व, रचनाधर्मिता और प्रशासन के साथ-साथ सतत् साहित्य सृजनशीलता हेतु शताधिक  सम्मान और मानद उपाधियाँ शामिल हैं।







Thursday, December 22, 2016

पाली मारवाड़ प्रधान डाकघर में आरंभ हुई पोस्ट शॉपी, डाक निदेशक कृष्ण कुमार यादव ने किया उद्घाटन

डाकघर आने वाले उपभोक्ताओं,पर्यटकों और युवा वर्ग की सुविधाओं का ध्यान रखते हुये, डाक विभाग अब एक सुविधा केंद्र के रूप में पोस्ट शॉपी का आरंभ करने जा रहा है। इस अनूठी पहल का उद्देश्य लोगों को बेहतर सुविधायें देने के साथ  अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचना है। उक्त उद्गार राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के  निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण  कुमार यादव  ने  21  दिसंबर, 2016 को पाली मारवाड़ प्रधान डाकघर में पोस्ट शॉपी  का उद्घाटन  करते हुये व्यक्त किए। 


 निदेशक डाक सेवाएँ  श्री क़ृष्ण कुमार यादव ने इस अवसर पर कहा कि  पोस्ट शॉपी में  डाक टिकट और डाक स्टेशनरी, फिलेटेलिक प्रोडक्टस, माई स्टैम्प सुविधा, स्टेशनरी आइटम, प्रिंटेड मग, पिक्चर पोस्टकार्ड्स, ग्रीटिंग कार्ड्स, पुस्तकें, गिफ्ट संबंधी आइटम्स, हैंडीक्राफ्ट उत्पादो एवं गंगाजल की  बिक्री होगी।  डाकघर में आने वाले ग्राहकों एवं पर्यटकों की सहूलियत के लिए पोस्ट शॉपी में पैकिंग मैटीरियल व पार्सल  बुकिंग की सुविधा भी उपलब्ध करवाई जाएगी,  ताकि वहीँ  से ग्राहक सीधे अपने घर तक खरीदे हुये उत्पादों को पार्सल सुविधा के माध्यम से पहुँचा सके। 

डाक निदेशक  श्री क़ृष्ण कुमार यादव ने कहा  कि  पोस्ट शॉपी के माध्यम से जहाँ एक तरफ डाक विभाग के राजस्व में बढ़ोतरी होगी, वहीं  इस योजना के माध्यम से स्कूली बच्चों और युवाओं को भी डाकघर के प्रति आकर्षित किया जा सकेगा। चूँकि, डाकघरों में बड़ी संख्या में लोग आते है, ऐसे में उनके  लिए पोस्ट शॉपी एक अभिनव कदम होगा।  श्री यादव ने बताया कि राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र के चार  प्रधान डाकघरों - जोधपुर, बीकानेर, झुञ्झुनु और सिरोही में पोस्ट शॉपी आरम्भ की जा चुकी  है और वहाँ पर इसे बड़ा अच्छा रिस्पांस मिला है।

डाक विभाग की योजनाओं की चर्चा करते हुए डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि  डाक विभाग को पेमेंट बैंक का दर्जा मिलने के बाद इसकी सेवा और पहुँच में और भी इजाफा होगा। पाली में भी इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक की शाखायें खोली जाएँगी। श्री यादव ने कहा कि रूरल इन्फॉर्मेशन एंड कम्युनिकेशन टेक्नालॉजी प्रोजेक्ट  के तहत ग्रामीण शाखा डाकघरों को भी हाईटेक किया जायेगा और वहाँ पर  हैण्डहेल्ड डिवाइस  दिया जायेगा। शाखा डाकघरों को सोलर चार्जिंग उपकरणों से जोडने के साथ-साथ मोबाइल थर्मल प्रिन्टर, स्मार्ट कार्ड रीडर, फिंगर प्रिन्ट स्कैनर, डिजिटल कैमरा एवं सिगनेचर व दस्तावेज स्कैनिंग के लिये यन्त्र भी मुहैया कराया जायेगा ताकि ग्रामीण लोगों को इन सुविधाओं के लिये शहरों की तरफ न भागना पडेऔर घर बैठे ही वे अपना भुगतान प्राप्त कर सकें।

पाली मंडल के डाक अधीक्षक  श्री डी. आर. सुथार ने बताया कि  पोस्ट शॉपी के माध्यम से डाक विभाग की विभिन्न योजनाओं  की विस्तृत जानकारी भी  आने वाले ग्राहकों को मिल सकेगी।  घर बैठे डाक टिकट प्राप्त करने की सुविधा के तहत फिलाटेलिक डिपॉज़िट अकाउंट खोलने  एवं मात्र 300/- रुपये  में अपनी फोटो वाली  डाक टिकट  की सुविधा भी पोस्ट शॉपी पर उपलब्ध होगी।  

इस अवसर पर सहायक डाक अधीक्षक संग्राम भंसाली,  राजेन्द्र सिंह भाटी,डाक निरीक्षकशहनाज़ खान, पोस्टमास्टर जेपाराम सेंगर सहित डाक विभाग के तमाम अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।